Hindi Sex Stories –

हेलो साथियो कैसे हो आप सब उम्मीद करती हूँ ठीक ही होंगे और उम्मीद करती हूँ सभी Hindi Sex Stories पड़ने के शौकीन भी होंगे आज की Sex Story बहुत ख़ास है क्यों की इस काण्ड के पहले मुझे चुदाई नाम का कीड़ा नहीं काट पाया था .

लेकिन इस काण्ड के बाद चूत में ऐसी खुजली मची की क्या कहना .

मेरा नाम शिल्पा है मेरी उम्र २२ साल की है मैं दिखने में सावली हूँ अभी मैं अपनी पढ़ाई कर रही हूँ मैं भले ही लम्बी हूँ हूँ लेकिन मेरा सरीर एक दम भरा हुआ है

इसलिए मुझे अपने से बड़े लड़के पसंद है आज मैं आपको एक चुदाई की कहानी सुनाने जा रही हूँ आज की जो कहानी मैं आपके सामने रखने जा रही हूँ वो मेरे जीवन की पहली घटना है ..

उम्मीद करती हूँ आपको ये कहानी बेहद पसंद आये ये कहानी कुछ दिनों पहले की है मेरे घर में मैं मेरे पापा एक बड़ी बहन और एक छोटा भाई रहते है मुझे चुदाई का सौक तबसे है जबसे मैंने पहली बार अपने मम्मी पापा की चुदाई देखी थी .

तब मुझे ये नहीं पता चला था की इस चिड़िया को चुदाई कहते है लेकिन जब पता चला की ये एक ऐसी चिड़िआ है जो खुद नहीं उड़ती लेकिन दुसरो के होश उदा देती हैं .

बचपन में जब हम लुक्का छुपी खेलते थे तब मेरे मम्मी पापा अपने में बिजी रहते थे और मैं और मेरे चाचा का लड़का छुप जाते थे कभी वो मुझसे लिपट जाता तो कभी मैं उससे लिपट जाती कई बार वो अपना लंड मेरी चूत में रगड़ता और मैं भी उसे ऐसा करने को कहती ये सब तब सुरु हुआ था जब मैं अपने चाचा के घर गर्मियों की छुट्टी में रुकने गयी थी .

लेकिन ये साडी हरकते बचपन की थी धीरे धीरे हम बड़े होते गए और ये सारी बाटे भूलते गए .

चलो दोस्तों ये तो मेरी बाटे हो गयी अब उस रात की बात करते है जब मैंने पापा और मम्मी की चुदाई देखी रात के करीब 12 बजे मुझे प्यास लगी मैं उठ कर पानी पीने जा ही रही थी की पापा वाले कमरे से आह आह आह आह की आवाज़ आयी .

मैं साइड वाली खिड़की से झाकने लगी तो मेरे होश उड़ गए पापा पुरे नंगे होकर अपना नाग जैसा लंड मम्मी की फूली फूली चूत में ढका धक् दाल रहे थे मम्मी उफ़फ उफ्फ्फ कर रही थी साथ अपनी गांड भी चला रही थी .

दोस्तों यह Sex Story पढ़ते रहिएगा मेरी गारेंटी है आपसे की इससे पहले हवस की ऐसी कहानी नहीं पढ़ी होगी .

दोनों हवस की चरम सीमा में थे यह सब देख कर मेरी चूत से भल भल भल भल पानी निकल रहा था बस चुदाई का कीड़ा उसी दिन मुझे काट गया .

एक दिन मैं और मेरे चाचा का बेटा दोनों मैसेज पे बात कर रहे थे करीब 2 बजे होंगे बात होते होते बात सेक्स की तरफ मुड़ गयी उसने मुझसे पूछा की क्या तुमको बचपन की चुदाई के बारे में याद है

तो मैंने बोलै हा मुझे बहुत अच्छे से याद है फिर कुछ दिनों तक हमारी नार्मल बाते होने लगी फिर एक दिन उसने पूछा की क्या हम चुदाई इस उम्र में चुदाई कर सकते है तो मैंने हाँ कर दी क्युकी मैं अपनी चूत की चुदाई अकेले ही करती थी .

उसके बाद हम रोज़ रत को सेक्स की बाते करने लगे क्युकी हमारे पास जगह नहीं थी जहाँ हम सेक्स कर सकते थे एक दिन उसका फ़ोन आया की रूम का जुगाड़ हो है तो मैंने उससे कहा की उसकी कोई ज़रुरत नहीं है कल तुम मेरे घर पे आ जाओ मेरे घर वाले बहार जा रहे है .

फिर उसी दिन मैंने अपनी चिकनी चमेली चूत को साफ़ कर दिया और सच में मेरी चूत बहुत सुन्दर लग रही थी फिर वो घर आया तो मैंने उससे पूछा की किसी ने देखा तो नहीं तो उसने बोला किसी ने है फिर मैं उसे छेड़ते हुए अंदर जाने लगी लेकिन उसने मुझे पकड़ लिया .

और मेरी गर्दन को चाटने लगा मेरी चूत फूल रही थी साथ में पानी भी छोड़ रही थी सांसें ऊपर नीचे हो रही थी क्युकी मैं इस खेल में नयी थी लेकिन वो पुराना लग रहा था उसने अपना लोहे जैसा लंड निकला और मेरे हाथ में दे दिया मैं उसको देख कर पागल हुई जा रही थी मैंने आव न देखा ताव लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगी .

उसको बहुत अच्छा लग रहा था उसने अपनी आखे बंद कर ली और मेरा मुँह चोदने लगा मेरे मुँह से पक्क पक्क पक्क पक्क आवाज़ निकल रही थी .

फिर उसने मुझे पूरा नंगा कर दिया मेरा सरीर देख कर वह पागल हो गया और मुझे चाटने लगा .

अब मुझे लंड की बहुत प्यास महसूस हो रही थी. मैंने उसके लंड को पकड़ कर मुट्ठ मारना शुरू कर दिया. सचिन को मैंने अपने ऊपर लेटा लिया और उसके लंड को खुद की अपनी चूत पर लगवा लिया. 

सचिन का लंड बहुत मोटा था और मेरी चूत का छेद बहुत छोटा था. उसका मोटा लंड मेरी चूत पर जब दबाव बनाने लगा तो उसका लंड फिसल गया. उसने दोबारा से कोशिश की लेकिन लंड अंदर नहीं जा रहा था.

फिर उसने नारियल के तेल की शीशी से तेल निकाल कर अपने लंड पर लगाया और थोड़ा सा तेल मेरी चूत के मुंह पर भी लगा दिया. उसने तेल लगाने के बाद मेरी टांगों को अपने हाथों से पकड़ा और लंड का मोटा सुपारा मेरी चूत में घुस गया.

मेरी जान निकल गई और उसको पीछे धकेलने लगी. लेकिन उसने तब तक दूसरा धक्का दे दिया और आधा लंड चूत में घुसा दिया. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरी चूत जैसे फट गई थी. मुझे बहुत दर्द होने लगा.

लेकिन फिर उसने एक और धक्के के साथ पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया. उसके बाद वो मेरी चूत में लंड को डालकर हिलाने लगा. थोड़ी देर में मेरी कुंवारी चूत के अंदर उसका मोटा लंड सेट हो गया.

उसके बाद उसने मेरी चूत में धक्के देने शुरु किये और फिर मुझे मजा आने लगा.

सचिन मेरी चूत को तेजी के साथ चोदने लगा. मुझे मजा आने लगा और मैं कामुक आवाजें करने लगी. आह-आह … आह्ह … ऊह्हह … उम्म .. मा … आ …

वो तेजी के साथ मेरी चूत को चोद रहा था. पहली बार मेरी चूत में किसी पुरूष का लंड गया था जिसका स्वाद मुझे बहुत मजा दे रहा था. उसका लंड मेरी चूत में पूरा फंस गया था और चूत को पूरी फैलाता हुआ अंदर और बाहर हो रहा था.

सचिन के धक्के एकदम बहुत तेज हो गये. मुझे दर्द होने लगा. मैंने कहा- बस करो, अब दर्द हो रहा है भाई, निकाल लो भाई.
वो बोला- अभी नहीं रंडी, आज मैं तेरी चूत को फाड़ दूंगा.

तू मुझे अपने चूचे दिखा रही थी. मैं जानता हूं कि तू अपनी चूत को चुदवाने के लिए मुझे उकसा रही थी. आज मैं तेरी चूत को चीर डालूंगा साली.

मैं रोती रही और वो मेरी चूत को चोदता रहा.

फिर अचानक ही मेरी चूत को उसके लंड से इतना मजा आने लगा कि मुझे समझ नहीं आया कि मेरे साथ क्या हो रहा है. 

मेरा बदन अकड़ने लगा. मैं उसके बदन से लिपट कर उससे चुदने लगी और फिर मेरी चूत से एक तूफान सा उठा और मैं जैसे अंदर से खाली होने लगी.

उस दिन मेरी चूत ने पहली बार लंड से चुद कर पानी छोड़ दिया था. मुझे बहुत मजा आया जब मेरा पानी निकला. फिर सचिन ने भी मेरी चूत में ही अपना पानी निकाल दिया .

अब जब भी हम दोनों घर में अकेले होते हैं तो हम पूरे नंगे होकर चुदाई करते हैं.  उसी दिन उसने फिर एक बार मेरी चूत मरी .

लेकिन देर रात में उसने मुझे एक बार फिर से चोद दिया. फिर सुबह के करीब 4 बजे उसने फिर मेरी चूत को चोद डाला. मेरी चूत दुखने लगी थी. मगर मजा भी बहुत आया. उस रात को मेरे भाई सचिन ने अपने मोटे लंड से तीन बार मेरी चुदाई की.

आह आह आह आह मैं ऐसे ही बस आह आह करने लगी मैं अपनी कमर उठा उठा कर मज़े ले रही थी मेरी खुशीओ का कोई ठिकाना नहीं था आह आह आह करते हुए मैं झड़ गयी .

दोस्तों मम्मी पापा की चुदाई देखने के बाद मैं और मेरे चाचा का बीटा सचिन ने चुदाई का तांडव किया सच में क्या मज़ा था उस चुदाई में इसलिए कहते है की पहली चुदाई जैसा मज़ा किसी चुदाई में नहीं .

दोस्तों यह Hindi Sex Stories आप www.sexstoriesinhindi.in पर पढ़ रहे है उम्मीद करती हूँ आप को Sex Story पसंद आयी होगी अगर पसंद आयी हो तो दोस्तों तक share करे .

Here you will find all kinds of hindi sex stories like Hindi Sex Stories CHUDAI KI KAHANI INDIAN SEX STORY IN HINDI MAA KO MAA BANYAHOT SEX STORY GAY SEX STORIES IN HINDI .