Hindi Sex Stories –

Hindi Sex Stories – हेलो दोस्तों मेरा नाम राज है और आज मैं आपको अपनी पहली Sex Story बताऊंगा की कैसे मैंने अपनी पड़ोसन की चुदाई की

कहानी से पहले मैं आपको अपने बारे में बताना चाहता हूँ मैं बिहार से हूँ और मेरा सरीर मजबूत है मैं gym करने वाला बाँदा हूँ मेरा लंड ६ इंच का मोटा मस्त लंड है जो किसी भी लड़की के होश उड़ा दे .

वैसे मैं स्टोरी पढ़ने का बहुत शौकीन हूँ लेकिन आज पहली बार मैं अपनी Sex Story साझा कर रहा हूँ उम्मीद करता हूँ आप सब पसंद करेंगे .

जायदा समय न बर्बाद करते हुए मैं अपनी कहानी पे आता हूँ मेरे पड़ोस में एक २१ साल की मस्त लड़की रहती है .

मैं तो अभी कुछ काम के सिलसिले में आया था जब मैं छत पे gym कर रहा था तो मेरी नज़र उसपे गयी वो अपनी छत पे कपडे सूखने के लिए आई थी उसको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया .

उसका जवानी से भरा सरीर मैं देख देख क पागल हुआ जा रहा था उसकी गांड इतनी मोटी थी की लग रही थी की सूज गयी है .

उसके बूब्स मस्त मलाई जैसे उसकी चाल देख क लग रहा था की उसकी बुर आज तक किसी को नहीं मिली मेरा लंड बस उसकी चुदाई सोच सोच कर पागल हुआ जा रहा था .

फिर मैंने अपनी छत से अपनी टी शर्ट निकल दी और अपनी बॉडी दिखने की कोसिस करने लगा .

उसकी नज़र मेरी तरफ गयी उसने मुझे देखा और अंदर चली गयी अब तो मेरा रोज़ का काम था की छत पे जाना और उसका इंतज़ार करना .

अगले दिन वो फिर आई मैंने सोचा आज उसको दूर से ही एक hi बोलूंगा लेकिन मेरी हिम्मत नहीं पड़ी अब हम दोनों अपनी अपनी छत से रोज़ एक दूसरे को देखने लगे .

करीब ७ दिनों क बाद मैंने सोचा आज उसको अपना नंबर लिख के उसकी छत पे फेक दूंगा और वो साम के टाइम छत पे आई मैं आज बिलकुल तैयार था की आज तो मुझे अपना नंबर देना ही है .

और मैंने एक कागज पे अपना नंबर लिख कर उसे फेक दिया उसने मेरे सामने उस कागज को नहीं उठाया लेकिन जब मैं चला गया तो उसने मेरा नंबर ले लिया .

अब मैं उसके फ़ोन आने का इंतज़ार कर रहा था रात के करीब ११ बजे उसका फ़ोन आता है और उसने बिना कुछ बोले काट दिया फिर मैंने उसको तुरंत मैसेज किया मैंने लिखा क्या हुआ .

थोड़ी देर बाद उसका मैसेज आया उसने लिखा कुछ नहीं फिर मैंने उसको बड़ी हिम्मत करके लिखा की आप हमको बहुत अच्छे लगते हो तो उसने मुझे लिखा की आप भी .

मेरा मन नहीं मेरा लंड खुश हो गया मन कर रहा था की अभी मुठ मार लू लेकिन फिर मैंने खुद को कंट्रोल किया और इधर उधर की बाते करने लगा उस दिन के बाद हमारी रोज़ रत को बात होने लगी थी .

करीब १० दिनों के बाद मैंने उससे पूछा की तुमने कभी किया है तो उसने बोला क्या किया है मैं कुछ समझी नहीं तो मैंने साफ़ साफ़ लिख दिया मैंने बोला क्या तुमने कभी सेक्स किया है .

तो उसने कहा नहीं और उसने पूछा की आपने किया है दोस्तों यहा पर बहुत सरे लड़के बोल देते की नहीं किया लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया .

क्युकी लड़कियों को सीधे साधे लड़के नहीं पसंद आते तो मैंने उससे बोला की हाँ मैंने किया है अब वह मुझसे पूछने लगी की कैसा लगता है मैंने बोला की बहुत मज़ा आता है लेकिन सुना है की लड़कियों को लड़को से जायदा मज़ा आता है .

ये बात सिर्फ मैंने उसकी चूत को गरम करने के लिए बोली थी तो उसने कहा आता होता मुझे क्या पता अब मैंने मौका देख कर बोल दिया .

मैंने कहा की पता कर लो की आता है या नहीं तो उसने कहा की नहीं पता करना मैंने पूछा क्यों नहीं पता करना उसने बोला डर लगता है मैंने मौका देख कर उससे बोला मेरे रहते हुए किसका डर .

फिर थोड़ी देर बाद उसने मैसेज किया की चलो करते है ये मैसेज देख कर मेरा लंड मानो पागल हो गया हो मैंने उसको मैसेज किया की कब तो उसने मुझसे कहा की परसो मैं घर से बहार जा रही हूँ .

अपनी दोस्त के घर तो रस्ते पे तुम मिल जाना हम लोग पहले किसी होटल पे चलेंगे मैं बहुत खुस था मैंने कहा ठीक है मैंने उसकी चुदाई करने क लिए एक स्प्रे ले ली .

जिसको अपने लंड पे डालने से चुदाई घंटो तक होती है मैं बाइक लेके निकला और वो मुझे रस्ते में मिल गयी हम पहली बार साथ थे इसलिए थोड़ी सरम आ रही थी .

लेकिन कुछ देर बात चीत करके हम ठीक फील करने लगे मैंने एक होटल , में रूम बुक करवाया था हम होटल पे पहुंचे रूम में जाके जैसे ही मैंने दरवाज़ा बंद किया .

मैंने उसको पीछे से पकड़ कर उसके गले पे किस करने लगा उसका कान चाटने लगा सेक्स में मैं पुराना खिलाडी था गर्दन पे किस करने की वजह से वो पागल हुई जा रही थी .

Hot Sex Story
Hindi Sex Stories

मौका देख कर मैंने उसकी गांड पे अपना हाँथ रख कर ज़ोर ज़ोर से उसकी गांड दबाने वो ज़ोर की साँसे ले रही थी .

फिर मैंने अपना लंड बहार निकल और उसकी गांड पे रगड़ने लगा उसका हाँथ पकड़ कर अपने लंड पे रख दिया सायद वह पहली बार लंड देख रही थी वो मेरे लंड को हिलने लगी .

फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह पे रखा लेकिन उसने लेने से मना कर दिया मैंने मन मैन सोचा ठीक है तेरी चुदाई तो होनी ही है तू मेरा लंड मुँह मैन ले या न ले .

मैंने उसे गोद मैन उठाया और बेड पे पटक दिया मैंने उसके नीचे के सरे कपडे निकल दिए और उसकी बुर चाटने लगा वो एकदम पागल हो गयी.

अपना पूरा सरीर उठा उठा के बुर को चटवा रही थी फिर वो झड़ गयी अब मेरी बरी थी मैंने उसकी गीली बुर पे अपना लंड रखा और एक झटका लगा के आधा अंदर कर दिया वो दर्द के मारे तड़प गयी लेकिन मैं बहुत गरम हो चूका था .

दोस्तों यह Hindi Sex STORIES आखिरी तक पढ़ना मेरी गारेंटी है आखिरी में आप सब कुछ भूल कर गांड चोदने के सपने देखने लगोगे .

मैं बस ज़ोर ज़ोर से उसकी चुदाई करने में लगा हु था करीब १० मिनट के बाद मैं झड़ गया और अपना सारा पानी उसकी बुर में छोड़ दिया अब हम दोनों सांत बेड पर पड़े थे .

फिर थोड़ी देर क बाद मैंने उसके बूब्स चाटने सुरु किये और उसको फिर से गरम करने की कोसिस की लेकिन तभी उसकी दोस्त का फ़ोन आ गया और उसको जल्दी निकलना पड़ा .

मेरा लंड बहुत खुश था लेकिन अभी और मन था उसकी मस्त गोल गांड मरने का मैंने उसे मैसेज किया की अब कब करे उसने लिखा की २ या ३ दिनों बाद करते है .

इस बार मेरा मन गांड मरने का था उसने घर पे फिर वही प्लान बनाया और हम फिर उसी होटल पे पहुंचे इस बार मैंने उससे बोला की मैं तुमको इस बेड में बांध कर सेक्स करुंग जैसे पोर्न मूवीज में करते है .

वो राज़ी हो गयी मैंने उसको उल्टा बाँधा और उसकी गांड पे जैसे ही क्रीम लगाई वो रोनी लगी और बोलने लगी की नहीं मेरी गांड मत मरना बहुत दर्द होगा .

लेकिन मैं कहाँ मानने वाला था मैंने क्रीम लगा कर उसकी गांड में अपना लंड डालने की कोसिस करने लगा वो कुछ कर भी नहीं पा रही थी क्योंकी उसको मैंने बेड से बांध दिया था .

मैंने अपने लंड को पकड़ कर अपने घुटनों को थोड़ा सा मोड़ लिया और उसके के चूतड़ों को फैलाकर अपने लंड के सुपारे को उनकी गांड के छेद पर टिका दिया .

उसने ने भी मस्ती में आकर अपनी जांघों को थोड़ा सा खोल कर दीवार पर अपनी हथेलियों को जमा दिया. इसके बाद उसने पीछे से अपनी गांड को थोड़ा सा बाहर निकाल लिया … जिससे मेरा लंड का सुपारा उनकी गांड के छेद में घुस गया.

सीईईई …’ सिसकते हुए उसने अपने पैर और पसार दिए.
मैंने उसकी कमर को दोनों तरफ से पकड़ कर एक जोरदार धक्का मारा. मेरा आधा लंड उसकी गांड को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया.

मामी जी के मुँह से एक हल्की चीख निकल गई- ह्ह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीईई ईईईई अहह..

उन्होंने अपने होंठों को दाँतों में भींच लिए. अब मैंने अपने हाथ आगे करके पीछे से उस के दोनों स्तनों को कस के पकड़ लिया और फिर से एक जोरदार धक्का दे मारा. इस बार मेरा आधे से ज्यादा लंड उस की गांड को चीरता हुआ अन्दर जा घुसा.

आहह … उईईईई, मज़ा आ गया … और जोर से डालो … अपना लंड. … मेरी गांड में … अह्ह्ह फाड़ डालो … ऊऊहह … आआहह … अन्दर … और अन्दर आज्ज्जाआ … आअहह … मेरी गांड.

मैंने दोनों स्तनों को कसके पकड़ के फिर से एक जोरदार धक्का देकर एक बार में ही पूरा अन्दर तक पेल दिया.

अहहह … अय्य्यीईई … मरर गयी … धीरे धीरे से … अह्ह्ह … ऊऊऊ … ईईई ऊऊ. … धीरे सेसीईई … मेरे राजा.
मैं- ओऊऊऊ क्या हुआ मेरी जानू… अभी तो बोल रही थी ज़ोर से … और अभी चिल्ला रही हो … मेरी रानी .

मैं धीरे धीरे से अपने लंड को अन्दर बाहर करते हुए कहने लगा- तो क्या हुआ पहली बार थोड़ी ही ले रही हो मेरी जान और जाने क्या क्या बड़बड़ाने लगा .

 उसके स्तनों को मसलते हुए उन्हें कस-कसकर चोद रहा था, जिससे कमरे में जोर जोर से पच पच पच की आवाजें हो रही थीं. वह भी जोर जोर से सिस्कारियां लेते हुए उतनी तेजी से गांड आगे पीछे करके मेरा पूरा साथ दे रही थीं. पूरे कमरे में चुदाई का मधुर संगीत गूंजने लगा था.

तभी मेरे लंड से गर्म गर्म वीर्य की मोटी मोटी पिचकारियां निकलने लगीं. इतना अधिक माल निकला कि उसकी पूरी गांड भर गयी. लेकिन मैं उसकी गांड में अभी भी दीवानों की तरह अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था.

मेरे लंड से वीर्य की पिचकारियां मामी जी की गांड में निकल कर गिरने लगी थीं. अपनी गांड में वीर्य की गर्माहट महसूस करती वह एक बार फिर जोर से चीखते हुए झड़ने लगीं- औअहह हहहहहहा … मैं भी गयी … अहम्म्म्म ममम.

दोस्तों कसम से जब उसकी कसी हुई गांड मार रहा था तो मेरा लंड दर्द महसूस कर रहा था क्रीम की वजह से मेरे लंड से पुच पुच की आवाज़ आ रही थी और उसकी गांड एक दम लाल टमाटर जैसी घायल हुई पड़ी थी .

हम दोनों पूरी तरह से हांफ रहे थे. मैंने पूरा शांत हो कर उस के कंधे पर अपना सर टिका कर उनको कस के पकड़ लिया. जब हम दोनों की साँसें दुरुस्त हुईं, तो अपना लंड उस की गांड से धीरे धीरे बाहर निकाल लिया .

उसके बाद उसने मुझ पे गुस्सा किया लेकिन मुझे गांड मरने का मज़ा भी मिल गया दोस्तों अगर Hindi Sex Stories पसंद आयी तो वेबसाइट के बारे में दोस्तों को बताये और सेक्स के मज़े लेते रहे .

क्यों मैं चुदी एक किरायदार से , भैया का लम्बा लंड Hindi Sex Stories