Hindi Sex Stories –

Hindi sex stories – हेलो दोस्तों मेरा नाम काजल है और मैं 19 साल की मस्त चूत गोल चूचियों मोती गांड वाली लड़की हूँ आज मैं आपको एक ऐसी Sex Story सुनाने जा रही हूँ जिसमे मेरे बड़े भैया ने मेरी चूत चोदी और मुझे अपनी रंडी बना लिया .

वैसे तो मैं Sex Story Hindi sex stories पड़ने की बहुत शौकीन हूँ लेकिन अपनी कहानी बताने में कुछ झिझक हो रही थी लेकिन हवस के मायाजाल में आज वो भी लिख रही हूँ .

कहानी तब सुरु होती है जब मैं और मेरे भैया अपने मामा के घर घूमने गए थे हम सब मामा के घर पहुंच कर बहुत मज़े कर रहे थे मामा की २ बेटी भी है जो भी दिखने में मस्त है लेकिन वो बहुत सीधी साधी है .

रात के करीब 11 बज गए थे हम सब हसी मज़ाक करके थक चुके थे अब सबको नींद आ रही थी मामा का घर जायदा बड़ा नहीं था इसलिए मामा ने बोला की तुम दोनों बेड शेयर कर लो मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं थी हम लोगो ने हा बोल दिया .

और सब सोने क लिए अपने अपने रूम में चले गए मैं और मेरे भैया अपने रूम में आ चुके थे मैं जायदा कपडे पहन कर कभी सो नहीं पति इसलिए मैंने अपने नीचे के कपडे निकल दिए और एक हल्का सा लोअर पहन लिया भैया ने भी अपनी पैंट निकाल दी और हम दोनों बेड पर लेट गए .

रात के करीब 12 बजे होंगे हम दोनों सो रहे थे तभी मेरी गांड पे मुझे कुछ महसूस हुआ मुझे लगा जैसे कोई नुकीली चीज़ मेरी गांड के गड्ढे में घुस रही है लेकिन मैं हलकी नींद में थी तो मुझे कुछ समझ नहीं आया की यह क्या हो रहा है थोड़ी देर के बाद जब फिर से ऐसा हुआ तब मैं समझ गयी थी की यह मेरे भैया का लंड है .

अब मेरी सांसें थोड़ी तेज़ तेज़ चलने लगी थी भैया अपना लंड मेरी गांड पर रगड़ रहे थे मेरा मन कर रहा था की मैं भी अपनी गांड को कपड़ो से आज़ाद कर दू और लंड का पूरा मज़ा ले लू लेकिन मुझे डर लग रहा था .

फिर थोड़ी देर के बाद भैया उठ कर बाथरूम में चले गए और वापस आकर सो गए मेरी चूत गीली हो चुकी थी लेकिन करू भी तो क्या करू खैर वो रात निकल गयी सुबह भैया मुझसे नार्मल बात चीत करने की कोसिस कर रहे थे .

लेकिन उनकी नज़र मेरी गांड और चूत पर ही रहती थी मेरा मन भी हो रहा था की जैसी तैसे ये दिन निकले और रात आये आज मैंने कुछ प्लान करके रखा था मैंने अपने लोअर के पीछे गांड के छेंद के पास बिलकुल लोअर फाड़ दिया था और ऐसा कर दिया था जिससे किसी का लंड सीधा मेरी गांड को टच करे .

दोस्तों सेक्स एक ऐसी बला है जिसके सामने आपको कुछ नहीं अच्छा लगता बस ऐसा हाल मेरा भी था पूरा दिन बस यही सोचने में निकल गया की कब रात हो .

जैसे तैसे दिन कट गया और वो रात आयी जिसका इंतज़ार था मैं वही लोअर पहन कर मैं सोई हुई थी रात के करीब 12 बजे मुझे इंतज़ार था की भैया का लंड मेरी गाड़ में घुसेगा और वैसा ही हुआ .

रात के करीब १२ बजे भैया ने अपना लंड रगड़ने की सोची लेकिन उनका लंड सीधा मेरे नंगे बदन से टकरा गया मेरी नंगी गांड से टकरा गया मैं पागल हुई जा रही थी मेरे सांसें तेज़ तेज़ चल रही थी दिल की धड़कन धक् धक् धक् कर रही थी .

उनका लंड मेरी गांड में घुस रहा था लेकिन आज उनका लंड मेरी बिना कपड़ो वाली गांड पर रखा था इसलिए भैया को कण्ट्रोल नहीं हो पा रहा था .

और मुझे भी मैं एक दम घूम कर उनसे चिपक गयी अब भैया तो मानो खुसी के वजह से पागल हो गए उन्होंने तुरंत मेरे कपडे निकल दिए और मेरी चूत पर अपना मुँह रख दिया और उसको चूसने लगे मैं मानो सातवे आसमान पर थी .

भैया पागलो की तरह मेरी चूत की चटाई कर रहे थे कसम से मेरे चूत से पानी भल भल भल भल निकल रहा था लेकिन भैया सारा पी रहे थे मनो सेक्स उनके सर पे सवार हो गया हो .

मैं एक हाँथ से उनका लंड ऊपर नीचे कर रही थी चूत चाटने के बाद भैया ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया मैंने उसको बड़े मज़े से चूसा अब भैया मेरे मुँह में अपना पानी छोड़ चुके थे लेकिन उनका लंड एकदम तन के खड़ा हुआ था .

करीब 5 मिनट के बाद भैया ने अपना लोहे जैसा लंड मेरी फूल जैसी चूत पे रख दिया और एक झटके में ही अंदर दाल दिया मैं तड़प गयी लेकिन वो फीलिंग आज तक याद है कितना मज़ा आया था .

मेरी धड़कन बढ़ी हुई थीं, अन्दर डर यह भी था कि कहीं भैया बुरा न मान जाए, इसलिए मैंने बात टालने के उद्देश्य से भैया ने मेरी चूचियों को पीना शुरू किया और अपनी ऊँगली उसकी चूत में घुमाने लगा।

मैं एक और चुदाई के लिए तैयार ही थी,मैं उछल कर उनके ऊपर आ गई, उसने अपने हाथ से मेरे तने हुए लण्ड को अपनी चूत के मुँह में रखा और एक जोरदार धक्के से पूरा लण्ड अपनी चूत में लील लिया, मैंने आँखें बंद करके अपनी कमर को आगे-पीछे करना शुरू किया।

दोस्तों मैंने नोट किया कि आज मैं कुछ ज्यादा ही जोश में आकर मेरी चुदाई कर रही थी, भैया को बहुत ज्यादा मजा आ रहा था।

करीब 5 मिनट तक मेरे लण्ड को अपनी चूत में अन्दर-बाहर करने के बाद मेरा का बदन एक दम ऐंठने लगा, भैया समझ गए की मैं स्खलित होने वाली है।

मैंने भी नीचे से अपनी गाण्ड को और ऊपर उठा लिया जिससे मेरा लण्ड बिल्कुल उसकी चूत समा गया, तभी प्रिया मेरे सीने पर गिर कर हाँफने लगी और हम दोनों एक साथ ही स्खलित हो गए थे।

थोड़ी देर शांत रहने के बाद मेरी ओर देखते हुए पूछा- मजा आया जान?
मैंने उसको चूमते हुए कहा- हाँ.. बहुत!

जब पहली बार मेरी चूत ने लंड खाया था अब भैया मेरे ऊपर आकर मेरी चूत पे हमला बोल दिया और मैं आह आह आह आह फ़क फ़क चोदो मादरचोद ऐसे सब्द बोल रही थी .

मेरी चूत आग जैसी गरम थी फिर करीब 10 मिनट बाद मेरी आग जैसी चूत में आग जैसा लावा मेरे भैया ने भर दिया और हम दोनों नंगे चिपक के सो गए उसके बाद हमने बहुत चुदाई की और अब भैया मुझे अपनी रंडी की तरह चोदते है .

दोस्तों कहानी पसंद आयी हो तो वेबसाइट के बारे में दोस्तों को शेयर करे और मेरी कहानी का मज़ा और लोगो तक पहुचाये .

Here you will find all kinds of hindi sex stories like HINDI SEX STORIES CHUDAI KI KAHANI INDIAN SEX STORY IN HINDI MAA KO HOT SEX STORY GAY SEX STORIES IN HINDI .