Hindi Sex Stories –

हेलो दोस्तों मेरा नाम मुकेश है और आज मैं आप लोगो को अपनी एक सच्ची Hindi Sex Stories कहानी सुनाने जा रहा हूँ तो सुरु करते है .

आप का टाइम न ख़राब करते हुए सीधे कहानी पे आता हूँ . कहानी मेरी और मेरी मौसी की बेटी की चुदाई की कहानी है मेरी मौसी की बेटी अभी अभी जवान हुई है सायद वह 17 साल की मस्त माल बन चुकी है उसकी गोल गोल चूची मोती सी गांड हर किसी को दीवाना बना सकती है .

उम्मीद करता हूँ अब सब यह Hindi Sex Stories पढ़ कर अपनी मुठ तो जरूर मरोगे क्युकी यह स्टोरी हवस से भरी हुई है .

मैं अपनी स्टडी के लिए दिल्ली गया था तभी मेरी मौसी की बेटी का मेरे पास मैसेज आता है और वो बोलती है की हेलो कैसे है आप तो मैंने बोलै मैं ठीक हूँ अभी तक मेरे मन में उसके लिए कोई गन्दी बाते नहीं थी .

फिर वो मेरे पास रोज़ मैसेज करने लगी वो कुछ ऐसे बात करती थी जैसे मेरी गर्लफ्रेंड हो इसलिए मुझे कुछ सक हुआ जैसे खाना खाया क्या कर रहे हो ये किया वो किय्या अब मुझे ऐसा लगने लगा था की उसकी गोल गांड चुदाई के लिए तड़प रही है.

अब मौका देख कर मैं भी उससे थोड़ी रोमांटिक बाते करने लगा था जैसे की तुम कितने साल की हो गयी हो कुछ करने का मन होता है या नहीं तो वो मुझसे पूछने लगी की क्या करने का मन आप कैसी बात कर रहे हो समझ नहीं आ रही लेकिन मुझे पता था की उसको सब समझ आ रहा है.

अब कुछ दिनों बाद हमारी रोमांटिक बाते होने लगी एक दिन उसने ऐसी बात बोली जिससे मेरा सक यकीन में बदल गया उसने बोला की आप मुझे स्मार्ट लगते है .

अगर हमारे बीच रिश्ता न होता तो मैं आपकी GF बन जाती तो अब ये बात सुन के मेरा लंड बहुत ज़ोर से खड़ा हो गया मन कर रहा था की घर जाकर उसकी भोसड़ा में ड़ाल दू .

और उसकी ज़ोर ज़ोर से चुदाई करू लेकिन मैंने उससे बोलै की रिश्ते से क्या मतलब अगर तुमको मज़े लेने है तो मैं तैयार हूँ फिर वो थोड़ी देर के लिए ऑफलाइन चली गयी .

लेकिन मेरी हालत खराब थी मैंने बाथरूम में जाके मुठ मर ली और बेड पे गिर गया अब कल मैं उसके मैसेज का इंतज़ार कर रहा था फिर करीब ७ बजे उसका मैसेज आता है .

और थोड़ी देर बात करने क बाद वो चुदाई के लिए तैयार हो जाती है अब हम लोग सेक्स चाट करने लगे मैंने उससे कुछ चुदाई के वीडियोस भेजे अब वो मुझसे बोलने लगी की घर आओ जल्दी मैं तड़प रही हूँ .

मैं उसके नाम की रोज़ मुठ मरता था फिर मेरा कोर्स पूरा हुआ और मैं घर गया उसका घर मेरे घर क पास ही पड़ता है घर पे सबसे मिलने क बाद मैंने बोलै की मैं मौसी क घर मिलने जा रहा हूँ .

मैं वह पंहुचा तो वो थोड़ा शर्मा गयी मैंने मौसी मौसा सबसे मिलने क बाद उसको ज़ोर से गले लगाया और उसके मस्त मलाई जैसे बूब्स दबा दिए मन तो कर रहा था की उसकी अभी गिरा के चुदाई कर दू .

लेकिन मुझे थोड़ा रुकना पड़ा फिर उसी रात को घर वालो ने मुझे पार्टी दी मेरे आने की खुसी में अब यह मेरे लिए मस्त मौका था उसकी चुदाई करने का हमने रात का प्लान बनाया .

दोस्तों यह बहुत कामुक SEX STORY है वासना से भरी हुई है इसे आखिरी तक ज़रूर पढ़े .

और हम रत के करीब १२ बजे एक रूम में मिले जब सब सो गए मैंने उसको पूरी ताकत से दबा लिया और उसके रास से बहरे लिप्स चूसने लगा वो ज़ोर ज़ोर से सांस लेने लगी मैंने आव न देखा तव उसके बूब्स चूसने लगा उसको बहुत मज़ा आ रहा था .

फिर एक हाँथ उसकी बुर पे फेरने लगा उसकी बुर गीली हो गयी थी उसका एक हाँथ मेरे लंड पे था और दूसरा मेरी पीठ पे हम दोनों की हालत खराब हो चुकी थी .

अब बस चुदाई करने का मन हो रहा था वो ज़ोर ज़ोर से सासे ले रही थी फिर मैंने उससे बोलै की पुरे कपडे निकालो मुझे पुरे कपडे निकल के सेक्स करने में मज़ा आता है.

वो खड़ी हुई और अपनी टीशर्ट, कैपरी उतारने लगी, वो अंदर पर्पल पेंटी में थी, उसने ब्रा का हुक खोला, पहली बार मैंने उसकी गुलाबी चूचियाँ पूरी नंगी देखी।

मैंने पहले भी चुदाई की थी लेकिन लेकिन ऐसी गोरी गुलाबी खड़ी चूचियाँ मैंने सिर्फ़ इन्टरनेट पर ही देखी थी।

अब वो मेरे सामने बिलकुल नंगी पड़ी थी मैं तो उसकी की गुलाबी चूत को देखने की कल्पना मात्र से पागल हुआ जा रहा था, उसको चाटने के विचार से तो सच में पागल हो जाऊँगा .

मैं उसके पैरों के बीच में जाकर बैठ गया और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर हाथ फ़ेरने लगा। चूत एकदम साफ़ थी, फ़ूली हुई थी, मैं चूत के ऊपर अपनी चार उंगलियाँ फेरने लगा, उसकी की चूत गर्म थी और मस्त गीली हुई पड़ी थी।

उसने अपनी आँखे बन्द करके अपने होंठों को दांतों तले दबाने लगी और बोली- जल्दी कर मेरी जान , चाट ना मेरी चूत… मुझसे अब रहा नहीं जा रहा है।

मैंने अपने होंठों से चूत पर एक मस्त चुम्मी ली और फिर अपनी जीभ निकाल कर चूत के ऊपर घिसने लगा।

वह अपने चूचे दबाने लगी और उसने अपनी टाँगें और फैला दी।
मैंने उसकी चूत की दरार में अपनी जीभ घुसाई और ऊपर नीचे हिलने लगा। वह की ‘आह आहह…’ निकलने लगी और वो मेरे सिर को पकड़ के अपनी चूत पर दबाने लगी।

मैं तो जैसे स्वर्ग में था और वह अपने चूतड़ ऊपर नीचे हिला कर अपनी चूत मेरे मुख पर घिसने लगी। वह काफ़ी चुदासी हुई पड़ी थी, उसकी चूत पानी पर पानी बहाये जा रही थी उसने कहा भाई, कमरे में चल कर मुझे चोद दे,

अब मुझ से जरा भी नहीं जा रहा है।मैं उसे खींच कर कमरे में ले गया।
वो एकदम से जाकर बिस्तर पर अपने घुटने मोड़ कर जांघें फ़ैला कर लेट गई, मैंने उसके दोनों घुटने पकड़ कर और फ़ैला दिये, ऐसा करने से उसकी चूत के जो होंठ चिपके हुये थे .

वो खुल गये और अन्दर से गुलाबी लाल कच्चा मांस सा दिखाई देने लगा।फ़िर मैंने अपने लण्ड को उसकी चूत के छेद के ऊपर सेट कर दिया, लवलीन को शायद चरमसुख मिला मेरे लौड़े के उसकी चूत को छूने से… उसने अपनी आँखें बंद की और थोड़ सा आगे होकर ऊपर को धक्का लगा दिया।

साथ ही मैंने एक हल्का झटका दिया और अब मेरा आधे से कुछ कम लंड उसकी चूत में था। उसके मुख से आह निकली और उसने अपने दोनों हाथों से मेरे कन्धे पकड़ कर अपने ऊपर दबा लिया। ऐसा करने से मेरा लौड़ा उसकी गीली गर्म चूत में पूरा घुस गया .

फ़िर उसने अपने चूतड़ों को ऊपर को उछाला और बोली- चोद जोर जोर से निकाल दे मेरी चूत का पानी  .

मैं नॉन स्टॉप चुदाई करने लगा वह भी पूरी मस्ती में आ गई थी अपने भाई का लंड अपनी चूत में लेकर, वो अपनी गांड हिला हिला कर चुदती रही और मैं भी अपनी सेक्सी बहन को अपने लंड का मज़ा देता रहा।

8-10 मिनट ऐसी चुदाई के बाद और मेरा काम अब तमाम होने की कगार पर था, मैंने उसके कान में कहा- मेरा निकलने वाला है, क्या करूँ?

जल्दी निकाल मादरचोद… अपने बच्चे का ही मामा बनेगा क्या! मेरे मुँह में निकाल दे अपना माल…’ वह हंस कर बोली।मैंने फच से अपना लौड़ा उसकी की फ़ुद्दी से निकाला और उसके मुँह से एक बड़ी आह निकली।

उसने अपना हाथ अपनी फ़ुद्दी में घुसा लिया और उसे मसल्ने लगी, मैं उसके चेहरे के पास अपना लण्ड ले गया, उसने अपना मुँह खोला और वो बेताबी से मेरे लौड़े को चूसने लगी, मेरे वीर्य के निकलने का इन्तजार करने लगी।

तभी एक पिचकारी छूटी और मेरे वीर्य से उसका मुँह भर गया। वह मेरे वीर्य को अपने मुँह में थोड़ी देर झकोला, चलाया और फिर वो एक घूंट में उसे पी गई।

वो अब भी अपनी फ़ुद्दी को अपने हाथ से सहला रही थी, शायद उसका पानी अभी तक नहीं निकला था, उसे पूरा मज़ा देने के लिये मैं उसकी जांघों के बीच में आकर उसकी फ़ुद्दी को चाटने लगा और 2-3 मिनट बाद लवली का बदन अकड़ गया और वो अपने चरमसुख को पा गई .

हम दोनों अकेले रूम पर पड़े थे करीब आधा घंटे बाद हमरा मन फिर हुआ तो हमने फिर चुदाई की और वो रात मुझे आज भी याद है हम, अब कम मिल पते है लेकिन जब भी मिलते है चुदाई कर लेते है .

Here you will find all kinds of hindi sex stories like HINDI SEX STORIES CHUDAI KI KAHANI INDIAN SEX STORY IN HINDIMAA KO MAA BANYA HOT SEX STORY .